Dahej Shayari – Nahin Khareed Sakte Beti ka Naseeb

Nahin khareed sakte beti ka naseeb lakhon ka dahej dekar
Fir bhi khoob chal raha hai zamane mein ye rivaaj
– Unknown
नहीं खरीद सकते बेटी का नसीब लाखों का दहेज देकर।
फिर भी खूब चल रहा है ज़माने में यह रिवाज।
– अज्ञात

Leave a Comment